श्री अरविन्द सिंह के बारे मे

नेता भारतीय जनता पार्टी

महासचिव हिंदी भाषा महासंघ

महासचिव बिहार-गुजरात मैत्री संघ (बिगमास)

MORE INFO:  [email protected]
BIRTH PLACE:  बाजितपुर
DATE OF BIRTH:   03 मार्च, 1974

Establishing The Right Connections

प्रारंभिक जीवन और राजनीतिक यात्रा

मेरा जन्म सिवान जिले के गोरेयाकोठी विधानसभा क्षेत्र के बाजितपुर गाँव में एक बेहद ही साधारण परिवार में वर्ष 1974 में हुआ। कहा जाता है कि यदि हम अपनी काबिलियत और जुनून को समय रहते पहचान लें, तो अपने जीवन को एक सार्थक लक्ष्य दे सकते हैं। कुछ ऐसी ही कहानी है मेरी। मेरा बचपन बेहद ही कठिन और संघर्षपूर्ण माहौल में गुजरा। मुझे बचपन से ही पढ़ाई-लिखाई से काफी लगाव था और मैं गाँधी जी, स्वामी विवेकानंद, डॉ. राजेन्द्र प्रसाद, डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी, डॉ. भीम राव अम्बेडकर, सरदार वल्लभ भाई पटेल और अटल बिहारी वाजपेयी जैसे महापुरुषों के आदर्शों को अपने जीवन में आत्मसात कर आगे बढ़ा हूँ।

मुझे विश्वास है कि मैं एक जनसेवक के तौर पर, जनता के विश्वास पर हमेशा कायम रहूँगा, क्योंकि मैं जिस परिवेश में पला-बढ़ा हूँ, उससे मुझे हमेशा अपने दायित्वों को ईमानदारी से निभाने की प्रेरणा मिलती है। काफी छोटी उम्र में घर की जिम्मेदारियों को संभालने के साथ-साथ मुझे राजनीतिक ज्ञान अपने पिता श्री विजय सिंह से मिली, जो साल 1977 से 2001 तक शादीपुर-बाजितपुर पंचायत के मुखिया रहे। उनके सान्निध्य से मुझमें परिपक्वता आई। राजनीति में कदम रखने से पहले, मैं गाँव में पढ़ाई करने के साथ-साथ जीविकोपार्जन के लिए ट्रैक्टर चलाया करता था और खेती कार्यों में अपने पिता की मदद करता था। लेकिन, घर की स्थिति नाजुक होने की वजह से मुझे साल 1995 से 1998 के बीच चौकीदारी की नौकरी के लिए गुजरात जाना पड़ा। इसके बाद भी मेरी कमाई इतनी नहीं थी कि मैं अपने घर की जिम्मेदारियों को आसानी से निभा सकूं। अतः मैंने नौकरी छोड़ कर व्यवसाय करने का फैसला किया। कहते है कि नेतृत्व, नेता और परिस्थितियों के संबंध का नाम है और परिस्थितियों के सम्मुख उभरना ही नेतृत्व है, मेरे साथ भी वर्ष 2002 में ऐसा ही कुछ हुआ। तब, जामनगर रिफाइनरी में हड़ताल लगी थी और मैंने मजदूरों और संस्थान का दिल जीतकर महज 2 दिनों में इस हड़ताल को खत्म कर दिया। इससे मेरे जीवन को एक नई गति मिली और समाज के लिए कुछ कर गुजरने का प्रेरणा और आत्मविश्वास भी।
धन्यवाद

  • © Copyright 2025 Arvind Singh